PV Sindhu wins World Champion in Badminton

PV Sindhu wins World Champion in Badminton

पी वी सिंधु ने बैडमिंटन में वर्ल्ड चैंपियन जीता

चर्चा में क्यों ?

हाल ही में पी.वी. सिंधु ( पुसरला वेंकट सिंधु ) ने भारत की ओर से वर्ल्ड चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता है, ऐसा करने वाली यह पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बनी है। पी.वी. सिंधु लगातार तीसरी बार वर्ल्ड चैंपियनशिप का फाइनल खेल रही थीं। ध्यातव्य रहे की सिन्धु पिछले दोनों बार के फाइनल में रजत पदक जीत चुकी से संतोष करना पड़ा था। सिंधु ने इससे पहले 2013 और 2014 में कांस्य पदक और 2017 और 2018 में रजत पदक जीता था। लेकिन वो पिछले दो बार से स्वर्ण पदक से चूक जा रही थीं।

पी वी सिंधु का सफर:-

  • कोलंबो में आयोजित 2009 सब जूनियर एशियाई बैडमिंटन चैंपियनशिप में कांस्य पदक विजेता रही हैं
  • उन्होने वर्ष 2010 में ईरान फज्र इंटरनेशनल बैडमिंटन चैलेंज के एकल वर्ग में रजत पदक जीता।
  • वर्ष-2010 में मेक्सिको में आयोजित जूनियर विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल तक पहुंची और 2010 के थॉमस और उबर कप के दौरान वे भारत की राष्ट्रीय टीम की सदस्य रही
  • पी. वी. सिंधु ने 2013 दिसम्बर में भारत की 78वीं सीनियर नैशनल बैडमिंटन चैम्पियनशिप का महिला सिंगल खिताब जीता
  • ओलम्पिक खेलों में महिला एकल बैडमिंटन का रजत पदक जीतने वाली वे पहली खिलाड़ी हैं
  • इससे पहले वे भारत की नैशनल चैम्पियन भी रह चुकी हैं
  • सिंधु ने नवंबर 2016 में चीन ऑपन का खिताब अपने नाम किया था
  • ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधु ने  वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में शानदार जीत दर्ज कर पहली बार इस खिताब को अपने नाम किया है
  • 24 अगस्त 2019 को हुए सेमीफाइनल मैच में उन्होंने चीन की चेन यु फी को 21-7, 21-14 से हराया
  • सिंधु ने सीधे सेटों में 39 मिनट के अंदर ही विपक्षी चीनी चुनौती को समाप्त कर दिया
  • पुरस्कार सम्मान:

  • 2015 में पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित जो भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक सम्मान
  • 2013 में अर्जुन पुरस्कार  से सम्मानित
  • एफआईसीसीआई 2014 का महत्वपूर्ण खिलाड़ी पुरस्कार
  • एनडीटीवी इंडियन ऑफ़ ईयर 2014 पुरस्कार
  • वर्तमान में पीवी सिंधु भारत के बैडमिंटन इतिहास की पहली ऐसी खिलाड़ी बन गई हैं जिसने वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता