वैश्विक शांति सूचकांक/ग्लोबल पीस इंडेक्स, 2019 (Global Peace Index 2019-GPI)

वैश्विक शांति सूचकांक/ग्लोबल पीस इंडेक्स, 2019 (Global Peace Index 2019-GPI)

वैश्विक शांति सूचकांक/ग्लोबल पीस इंडेक्स, 2019 (Global Peace Index 2019-GPI) 

चर्चा में क्यों ?
हाल ही में वैश्विक शांति सूचकांक/ग्लोबल पीस इंडेक्स, 2019 (Global Peace Index 2019-GPI) जारी किया गया जिसके अनुसार, भारत 163 देशों की सूची में 141वें स्थान पर है, जबकि वर्ष 2018 में भारत की रैंकिंग 136वीं थी।

ग्लोबल पीस इंडेक्स (Global Peace Index-GPI)

♦️इस इंडेक्स की शुरुआत एक ऑस्ट्रेलियाई प्रौद्योगिकी उद्यमी और समाज-सेवक स्टीव किल्लेली (Steve Killelea) ने की थी।
♦️Global Peace Index सूचकांक को ऑस्ट्रेलियाई थिंक टैंक इंस्टीट्यूट फॉर इकोनॉमिक्स एंड पीस (Australian think tank Institute for Economics & Peace) द्वारा जारी किया जाता है।
♦️ इस सूचकांक में निम्नलिखित तीन प्रमुख शर्तों के अनुसार देशों की रैंकिंग की जाती है:-

1:- सामाजिक सुरक्षा का स्तर
2:- घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय सीमा विवाद 
3:- मिलिट्रिएशन ( सैन्यीकरण की सीमा ) के आधार पर

ग्लोबल पीस इंडेक्स (Global Peace Index-GPI) सूचकांक के अनुसार:-

♦️ इस सूचकांक में सबसे शंतिपूर्ण देशों की सूची में पहला स्थान आइसलैंड को प्राप्त हुआ है, जों वर्ष 2008 से लगातार इस स्थान पर बना हुआ है।
♦️इस सूचकांक के अनुसार सबसे ज़्यादा अशांतिपूर्ण देशों की सूची में सीरिया को पीछे छोड़ अफगानिस्तान प्रथम स्थान पर आ गया है। Note:- सीरिया अशांतिपूर्ण देशों की सूची में अब दूसरे स्थान पर है।
♦️जबकि दक्षिणी सूडान, यमन और इराक जैसे देश क्रमशः तीसरे, चौथे और पाँचवें स्थान पर है।
♦️ इस रिपोर्ट के अनुसार भूटान दक्षिणी एशिया में सबसे शान्तिपूर्ण देश है क्योंकि इसका ग्लोबल पीस इंडेक्स में 15वाँ स्थान है।
♦️इसके अलावा इस सूचकांक में श्रीलंका 72वें, नेपाल 76वें, बांग्लादेश 101वें और पाकिस्तान 153वें स्थान पर है।
Note:- इस रिपोर्ट के अनुसार, भारत 163 देशों की सूची में 141वें स्थान पर है, जबकि वर्ष 2018 में भारत की रैंकिंग 136वीं थी, अर्थात भारत 5 स्थान नीचे आ चुका है।